INITIATIVES

जयपुर 17 मई 2018

राजस्थान राज्य महिला आयोग ने लाल कोठी स्थित कार्यालय में एक प्रेमी युगल ज्योति-मनीष का विवाह सम्पन्न कराया ।
आयोग अध्यक्ष श्रीमती सुमन शर्मा ने बताया कि ज्योति के परिजन इस रिश्ते से नाराज थे और इसी वजह से उन्होंने उसके साथ अत्याचार भी किया। वे लोग प्रेम विवाह व अंतर्जातीय विवाह के खिलाफ थे।आयोग की समझाईस के बाद वे लोग सहमत हुए। युवक मनीष व उसके परिजन उनके रिश्तों के प्रति गम्भीर व खुश थे और उनका विवाह करवाना चाहते थे ।
       श्रीमती शर्मा ने कहा कि हमारी इच्छा थी कि युवती के घर से ही शादी हो। परन्तु ज्योति को अपने परिजनों पर विश्वास नहीं था और वो अपने घर जाना नहीं चाहती थी। तब हमने तय किया कि उनकी शादी आयोग कार्यालय में करायी जायेगी। महिला आयोग के गठन के बाद और शायद देश में किसी भी महिला आयोग का यह पहला मामला है जिसमें युवती की इच्छानुसार उसकी शादी आयोग कार्यालय में सम्पनन्न हुई हो।अल्प समय में शादी की सभी तैयारियां की गई।आयोग ने युवती ज्योति का अभिभावक बन सम्पूर्ण हिन्दू रीति रिवाज से विवाह सम्पन्न कराया। राजा पार्क जयपुर आर्य समाज के पंडित श्री चक्रवर्ती सामवेदी ने मंत्रोच्चार के साथ शादी करायी। महिला आयोग सदस्य डॉ रीता भार्गव व सुषमा कुमावत,बाल आयोग सदस्य श्रीमती जयश्री गर्ग व एस पी सिंह तथा सदस्य सचिव श्रीमती अमृता चौधरी, अति पुलिस अधीक्षक श्रीमती योगिता मीना,रजिस्ट्रार श्री अजय शुक्ला पारिवारिक न्यायालय के दोनों न्यायाधीश श्री कुँवर महेन्द्र सिंह राघव व श्री अजय भोजक इस विवाह के गवाह बने और युगल को आशीर्वाद व शुभकामनाएं दीं।भाजपा शहर उपाध्यक्ष श्री ब्रह्म कुमार सैनी, पार्षद श्री अनिल शर्मा, महिला मोर्चा की रश्मि विजय,अमिता शर्मा व किरण सिन्हा, युवा मोर्चा मण्डल अध्यक्ष श्री दीपेश मिश्रा,नटवर कुमावत पूर्व चैयरमेन श्री जितेन्द्र लोधिया, मण्डल अध्यक्ष श्री मानक सैनी व ओ बी सी मोर्चा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य श्री अमित जयसवाल सहित सेकड़ो लोग इस शादी में सहयोग किया और गवाह बने ।